बिहार कृषि यांत्रिक

बिहार कृषि यांत्रिक अनुदान योजना हुआ बंद

बिहार कृषि यांत्रिक अनुदान योजना हुआ बंद

Short description :- बिहार कृषि यांत्रिक  कृषि यांत्रिक अनुदान योजना यह एक ऐसी  योजना है | जिसके अंतर्गत किसानो को अनुदानीत दरों पर कृषि यंत्र दिए जाते है इस अनुदान के कारण किसान अपने यंत्र को आसानी से खरीद सकते है बिना किसी परेशानी के. बिहार सरकार किसानो को यह अनुदान देती है | परन्तु राज्य सरकार के नई अपडेट के मुताबिक अब इस योजना को बंद कर दिया गया है |

बिहार कृषि यांत्रिक  अब किसानो को इस योजना का लाभ नहीं दिया जायेगा |क्यों बंद की गयी योजना और इस योजना के बंद होने के क्या क्या कारण है | इस से जूरी सारी जानकारी आपको निचे मिल जाएगी | सभी किसानो के लिए यह बहुत ही उपयोगी खबर है | तो निचे दी गयी जानकारी को पूरी जरुर पढ़े |

नई अपडेट 

बिहार कृषि यांत्रिक  इस योजना के तहत नई अपडेट के मुताबिक अब किसानो को कृषि यांत्रिक अनुदान योजना का लाभ नहीं दिया जायेगा | राज्य सरकार के द्वारा इस योजना को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है |

क्यों बंद किया गया ये योजना

सरकार का मानना है की बिजली की आपूर्ति बड़ी तो डीजल पर अनुदान देने का कोई मतलब नहीं है | किसानो को बिजली के द्वारा सिंचाई का सस्ती पड़ती है | इसी तरह राज्य में यंत्र बैंकों की स्थापना होने लगी तो अब यंत्री खरीदने वाले की संख्या कम हो जाएगी | और जितनी भी संख्या में लोग यंत्र खरीदेगे , उनको भी इस योजना से ही अनुदान मिल जायेगा |

इस योजना के विशेषता 

इस योजना के तहत अब तक 50 हजार किसान औसतन हर वर्ष लाभ लेते है | सरकार के द्वारा अब तक 200 करोड़ रुपये तक अनुदान दिए जाते थे |

इस बर्ष 23 करोड़ की व्यवस्था थी |इस योजना के तहत 71 प्रकार के यंत्रो पर अनुदान दिए जाते थे |बंद हुआ कृषि यांत्रिक अनुदान योजना 

इस योजना से जूरी राज्य सरकार की नए नियम 
  • चालू बर्ष में यंत्रीकरण की योजना नहीं बनाने का राज्य सरकार के तरफ से निर्देश |
  • केंद्र की योजना जारी रहेगी ,50% तक मिलेगा अनुदान |
  • इस से पहले राज्य में कई यंत्रो पर 90% तक अनुदान दिया जाता था |
Important links
कृषि यांत्रिक अनुदान योजना Click here
Mukhyamantri balak/balika Protsahan Yojana 2021 Click here
Official website Click here

इस बारे में और अधिक जानकारी के लिए निचे दिए गए विडियो को एक बार जरुर देखे |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top